November 30, 2021
Uncategorized

महरानी अस्पताल में हुआ मरीजो का सफल ऑपरेशन

Spread the love

जिया न्यूज़:-जगदलपुर,

जगदलपुर:-क्षेत्रीय कुष्ठ प्रशिक्षण एवं अनुसंधान संस्थान लालपुर, रायपुर एवं जिला कलेक्टर बस्तर के निर्देशानुसार आजादी के अमृत महोत्सव के तहत विकृति सुधार शल्य किया योग्य मरीजो का पंजीयन एवं चिकीत्सकीय परीक्षण महारानी जिला अस्पताल में 27 अक्टूबर को किया गया एवं 28 से 30 अक्टूबर तक शल्य किया का संपादन किया गया, जिसमे बस्तर जिले के अतिरिक्त संपूर्ण बस्तर संभाग के मरीज भी लाभान्वित हुये है। इन विकृति सुधार शल्य किया के उपरांत मरीजो की 25 उंगुलियो की थिरकन वापिस आयी है, साथ ही 2 मरीजो के अंगुठे की विकृति हेतु शल्य किया तथा 3 मरीजो की आँखो की विकृति की मेजर शल्य किया की गयी, आपरेशन किये गये मरीजो की आयु 30 – 55 वर्ष थी, उपरोक्त शल्य किया में जिला बस्तर, जिला सुकमा, जिला बीजापुर के मरीजो की संख्या ज्यादा थी, यह शल्य किया अस्थि रोग विशेषज्ञ डॉ के. एम. काम्बले संयुक्त संचालक क्षेत्रीय प्रबंधक छ.ग. स्वास्थ्य एवं परिवार कल्याण विभाग के द्वारा संपन्न हुयी, सिविल सर्जन सह अस्थि रोग विशेषज्ञ, महारानी अस्पताल जगदलपुर डॉ संजय प्रसाद ने बताया कि यह शल्य किया मुख्यतः क्लॉहैंड की विकृति, अल्नर नर्व पाल्सी तथा अंगुठे की विकृति, कान्ट्रेक्चर एवं आँखो मे कुष्ठ की बिमारी से जनित मॉसपेशीयो की कमजोरी (लैग ओप्थेल्मस) की बिमारी हेतु की गयी, जिसमे शरीर के उत्तको (टेंडन) का ट्रांसफर कर कुष्ठ रोग से ग्रसित अपंग, अयोग्य, अनुपयोगी अंगुलियो मे पुनः कार्य करने योग्य बनायी गयी, उपरोक्त शल्य किया महारानी अस्पताल के नवनिर्मित भवन सुश्रुत के माड्युलर ऑपरेशन थियेटर में संपन्न की गयी, यह शल्य किया प्रतिदिन 12 घंटे तक 2 दिन मे संपन्न की गयी, इस शल्य किया मे निश्चेतना विशेषज्ञ डॉ वी. के ध्रुव एवं डॉ रविचंद्रा तथा महारानी अस्पताल की अस्थि रोग विशेषज्ञों की टीम डॉ लखन ठाकुर एवं डॉ सेतु गुथा एवं ओटी नर्सिंग ईचार्ज श्रीमती अरुना त्यागी की टीम का सराहनीय योगदान रहा,

Related posts

Chhttisgarh

jia

नक्सलियों के कब्जे में अभी भी सब इंजीनियर, चपरासी को दिया गया छोड़,
इंजीनियर की पत्नी ने नक्सलियों से की अपील रिहा करें पति को सकुशल,
3 वर्ष के बच्चे को गोद मे लेकर जंगल जंगल घूम रही सब इंजीनियर की पत्नी

jia

सोनारु पत्नी को पहली बार मोटरसायकल पर ले गया मायके तो पत्नी की खुशी हुई दुगुनी
गोबर बेचकर सोनारु ने खरीदी मोटरसायकल और कराई घर की मरम्मत

jia

Leave a Comment

error: Content is protected !!