July 29, 2021
Uncategorized

ग्राम पंचायत धुरली की सरपंच सुखमती कुंजाम ने एनएमडीसी के सीएसआर मद के बंदरबाट को लेकर शासन प्रशासन पर जमकर साधा निशाना
सीएसआर मद का उपयोग प्रभावित गांवो के विकास के लिए होना चाहिए – सुखमती

Spread the love

जिया न्यूज़:-दंतेवाड़ा,

दंतेवाड़ा:-लाल पानी की समस्या से ग्रसित गॉव ग्राम पंचायत धुरली की सरपंच सुखमती कुंजाम ने एनएमडीसी के सीएसआर मद के बंदरबाट को लेकर शासन प्रशासन पर जमकर निशाना साधा है। उन्होंने कहा कि हमारा जिले में स्थित एनएमडीसी देश की प्रमुख नवरत्न कंपनियों में है। और इन कंपनियों के लाभांश का एक हिस्सा क्षेत्र के विकास कार्य मे खर्च किया जाता है। जिसमे प्रभावित गांव में पानी की समस्या, सड़क, बिजली, अस्पताल, स्कूल आदि चीजों के निर्माण के लिए इस मद का उपयोग किया जाता है। लेकिन वर्तमान में दंतेवाड़ा जिले में एनएमडीसी के सीएसआर मद का उपयोग प्रभावित गांव में ना होकर के जनप्रतिनिधियों द्वारा अन्य जगहों में बंदरबांट किया जा रहा है। उन्होंने कहा कि जब से राज्य में कांग्रेस की सरकार बनी है तब से प्रभावित गांव के लाल पानी से ग्रस्त किसानों को मुआवजा तक नहीं दिया जा रहा है। उन्होंने कहा कि यदि प्रभावित गांव की तरफ ध्यान नहीं दिया गया तो प्रभावित गांव के सभी किसान व जनप्रतिनिधि आंदोलन करने के लिए बाध्य होंगे। सीएसआर मद से जिले में प्रभावित सभी लोगों को आवास व अन्य सभी सुविधाएं मुहैया करायी जा सकती है। लेकिन इस मद का सही उपयोग ना होकर इसका सत्ता पक्ष के जनप्रतिनिधियो द्वारा लगातार बंदरबांट किया जा रहा है। जिससे प्रभावित लोगों को इसका उचित लाभ नहीं मिल पा रहा है। शासन प्रशासन को इस पर ध्यान देने की आवश्यकता है यदि ध्यान नहीं दिया गया तो शीघ्र ही सभी ग्रामीण, किसान और जनप्रतिनिधि आंदोलन करेंगे और अपना हक लेकर ही रहेंगे। उन्होंने कहा कि प्रभावित गांवो को सीएसआर मद में प्राथमिकता देकर वहाँ विकास कार्य करवाना चाहिए।

Related posts

विधायक रेख चंद जैन क़ा अतिसंवेदनशील नक्सल प्रभवित क्षेत्र क़ा दौरा मुहिम कोई भूखा ना सोए के तहत वितरण की राशन सामग्री एवं मच्छर दानी

jia

Chhttisgarh

jia

बस्तर पुलिस ने कोरोना काल में एक बार फिर से दिया मानवता का परिचय

jia

Leave a Comment

error: Content is protected !!