Uncategorized

लोन वर्राटू के तहतआत्मसमर्पित नक्सली शंकर कुंजाम और अनिल कुंजाम ने की मुख्यमंत्री से बातचीत
बताया जिन हाथों से स्कूल को ढहाया था
उन्हीं हाथों से उसे फिर से बनाया
अब गूंज रहा है वहां बच्चों का ककहरा

Spread the love

जिया न्यूज़:-दंतेवाड़ा,

दंतेवाड़ा:- दंतेवाड़ा जिले में विकास कार्यों के लोकार्पण और भूमि पूजन कार्यक्रम में विभिन्न योजनाओं के हितग्राहियों से मुख्यमंत्री श्री भूपेश बघेल ने आज वर्चुअल माध्यम से बातचीत की। उसी कड़ी में लोन वर्राटू के तहत आत्मसमर्पित नक्सली शंकर कंुजाम और अनिल कुंजाम से भी मुख्यमंत्री ने बातचीत की। शंकर कुंजाम ने बताया कि वे जब छोटे थे तब ही वे नक्सली दल से जुड़ गए थे, और लोगों को परेशान करके, गांव को तहस नहस करके दिन व्यतीत करते थे।

इस दौरान उन्होने भांसी ग्राम स्थित स्कूल की ईमारत को तोड़ दिया था। जिससे वहां की शिक्षा पर प्रभाव पड़ा था। पर लोन वर्राटू योजना के तहत उनके आत्म समर्पण करने से उन्हें शासन की पुर्नवास योजना का लाभ मिला और उन्हें रोजगार दिया गया साथ ही अन्य सुविधाएं दी गयी। तब उन्हें अहसास हुआ कि उनके द्वारा स्कूल तोड़ने से कल के भविष्य बच्चों का जीवन अंधकारमय हो सकता है तब उन्होंने दंतेवाड़ा के भांसी गांव के मासापारा स्कूल को दोबारा अपने हाथों से बनाया। अब वहां एक बार फिर से ककहरा और घंटी की आवाजों के बीच बच्चों के शोर सुनाई दे रहे हैं। अब वे अपने बच्चों को यहीं पढ़ाएंगे ताकि उनका भविष्य प्रकाश से जगमगाएगा। मुख्यमंत्री श्री भूपेश बघेल ने उन्हें बधाई दी।

Related posts

कुर्सी का खतरा ऐसा मंडराया की साढ़े तीन साल बाद विधायक विक्रम मंडावी को प्रशासनिक अमले के साथ पँहुचना पड़ा निकाय की जनता के बीच

jia

Chhttisgarh

jia

मेकाज के जेआर के साथ ही इंटर्न ने मनाया ब्लैक डे
दिल्ली में आंदोलन कर रहे चिकित्सको के साथ हुए हाथापाई को लेकर

jia

Leave a Comment

error: Content is protected !!