September 17, 2021
Uncategorized

छत्तीसगढ़ बंगाली समाज में इन दिनों प्रदेश अध्यक्ष के विवादित कृत्य को लेकर घमासान।

Spread the love

जिया न्यूज़:-जगदलपुर,

जगदलपुर:- देश में बंगाली समाज को बुद्धिजीवी वर्गों में गिना जाता है, और छत्तीसगढ़ में बंगाली समाज लगातार अपने मांगों को लेकर आंदोलित भी है। छत्तीसगढ़ में भी बंगाली हितों को लेकर छत्तीसगढ़ बंगाली समाज नामक संगठन बनाया गया है। इस संगठन का कार्य है कि छत्तीसगढ़ में बिखरे हुए बंगाली लोगों को संगठन से जोड़कर बंगाली समाज के हितों को ध्यान में रखते हुए समय-समय पर सरकार तक अपनी मांगों को पहुंचाया जा सके।
परंतु संगठन के 8 वर्ष पूरे हो जाने के बावजूद भी आज पर्यंत तक संगठन हास्य के कगार पर है। लोग समाज के इस संगठन से जुड़ते तो है परंतु 8 वर्षों से विराजित कथित अध्यक्ष श्रीनिवास पाल द्वारा लोगों को संगठन में जुड़ने के बाद उन्हें मानसिक रूप से प्रताड़ित करने से लेकर अभद्र भाषा का भी प्रयोग करने से नहीं चूक रहे हैं। जिस वजह से लोग संगठन में जुड़ते तो है परंतु कथित अध्यक्ष के रवैया को देखकर संगठन छोड़ने का विचार बना लेते हैं, या फिर कथित अध्यक्ष श्रीनिवास पाल स्वयं असंवैधानिक तरीके से लोगों को संगठन के बाहर का रास्ता दिखा देते हैं।
इसी तारतम्य में आपको बता दें कि 21-7-21 को समाज के सदस्यों ने मिलकर कथित अध्यक्ष श्रीनिवास पाल के विरुद्ध एफ आई आर दर्ज कराने की मांग को लेकर नगर के मध्य स्थित कोतवाली थाना पहुंचे जहां संगठन के सदस्यों एवं पीड़ित श्री संजीव कर्मकार पिता स्वर्गीय श्री मुकुंद कर्मकार निवासी बस्तर टिकनपाल पटेल पारा ने कहा कि गत दिनों उनके साथ कथित अध्यक्ष श्रीनिवास पाल ने छत्तीसगढ़ बंगाली समाज में पदाधिकारी बनाने के बाद ग्रुप में जोड़ा था, समाज में जुड़ने हेतु उनसे शुल्क भी वसूला गया। जिसके बाद उन्हें व्हाट्सएप ग्रुप में जोड़कर अपमानित करते हुए हटा दिया। कारण यह था कि उनके द्वारा 2012 से आज पर्यंत समाज में जमा किए गए सदस्यता शुल्क के रूप में राशि का हिसाब मंगा गया, परंतु उनके द्वारा कोई भी हिसाब नहीं दिया गया। जिसके बाद कथित अध्यक्ष श्रीनिवास पाल द्वारा लगातार संजीव कर्मकार को मानसिक रूप से प्रताड़ित किया जा रहा था।
परंतु कथित अध्यक्ष श्रीनिवास पाल को यह बात नागवार गुजरा और उन्होंने संजीव के विरुद्ध व्हाट्सएप ग्रुप में उठ-पटांग बातें लिखकर ग्रुप से रिमूव कर दिया। इसके बाद संजीव कर्मकार को फोन करके अभद्र गाली गलौज करते हुए तहसीलदार एवं SDM को भी पूर्व में मारने की बात कहते हुए उन्हे मारने की धमकी दे डाली।
प्रदेश अध्यक्ष द्वारा इस प्रकार के कृत्य के विरुद्ध नाराज संगठन के सदस्यों ने कोतवाली थाना पहुंचकर कथित अध्यक्ष श्रीनिवास पाल के विरुद्ध एफ आई आर दर्ज कराने की मांग की है इस दौरान समाज के प्रमुख पदाधिकारी मौजूद थे, जिसमें
श्री उत्तम मंडल प्रदेश उपाध्यक्ष सुकमा , श्रीमती बिजली बैद्य प्रदेश संगठन मंत्री, श्री सुब्रतो विश्वास संभागीय अध्यक्ष, श्री संजीव कर्मकार प्रदेश प्रवक्ता , श्री परितोष सूत्रधर प्रदेश उपाध्यक्ष, मृण्मय बारोई, रोहन घोष मौजूद थे।

Related posts

नगरनार स्टील प्लांट के डी मर्जर के खिलाफ राज्य सरकार विधानसभा शीतकालीन सत्र में लाये संकल्प पत्र–अमित जोगी “सन् 2002 में NMDC व राज्य सरकार के बीच किए गए अनुबंध की शर्तों के उलंघन पर राज्य सरकार NMDC को दे कारण बताओ नोटिस–अमित जोगी

jia

कटेकल्याण थाना क्षेत्र के चिकपाल और मारजुम के जंगलों में सुबह डीआरजी के जवानों व नक्सलियों के बीच मुठभेड़ पांच लाख का इनामी माओवादी हिड़मा मुचाकी को जवानों ने मार गिराया

jia

शहर में जुआ -सट्टा पर कोतवाली पुलिस की लगातार कार्यवाही।
कुम्हारपारा में एक सटोरिये पर कोतवाली पुलिस की कार्यवाही

jia

Leave a Comment

error: Content is protected !!