June 25, 2021
Uncategorized

आजादी के बाद पहली बार धुर नक्सल प्रभावित क्षेत्र पहुरनार में फहराया तिरंगा
इंद्रावती नदी में पुल व थाने की मांग के कारण नक्सलियों ने कर दी थी सरपंच की हत्या
पुलिस में शामिल सरपंच पुत्र ने फहराया तिरंगा झंडा
बच्चों, ग्रामीणों व सुरक्षा बल के जवानों ने निकाला शांति मार्च

Spread the love

जिया न्यूज़:-दिनेश गुप्ता-दंतेवाड़ा/गीदम,

गीदम:-दक्षिण बस्तर दंतेवाडा के गीदम ब्लॉक के घुर नक्सल प्रभावित क्षेत्र पाहुरनार में आजादी के बाद पहली बार तिरंगा झंडा फहराया। गौरतलब है कि यह क्षेत्र नक्सल प्रभावित होने के कारण यहां नक्सली हमेशा काले झण्डा फहराते आये है।

विगत तीन वर्ष पूर्व थाने व इंद्रावती नदी में पुल की मांग को लेकर नक्सलियों ने गांव के सरपंच की हत्या कर दी थी। उसके बाद उनके पुत्र पुलिस में शामिल होकर पिता की मांगों का समर्थन करते हुये और उनकी इच्छा का सम्मान करते हुये पुलिस में सम्मिलित होकर शासन प्रशासन से अपनी सरपंच पिता की मांगों को पूरा करने की गुजारिश की।और आज दिवगंत सरपंच के पुत्र ने नक्सल प्रभावित गॉव पहुरनार में ध्वजारोहण किया। इस गणतंत्र दिवस कार्यक्रम में पुलिस अधीक्षक दंतेवाड़ा डॉ अभिषक पल्लव, बड़ी संख्या में गांव के ही ग्रामीण, बच्चे व सुरक्षा बल के जवान शामिल हुये।

इस कार्यक्रम से ग्रामीणों में खासा उत्साह नजर आया। इस दौरान ग्रामीणों की मांग पर पुलिस ने बच्चों व सुरक्षा बलों के जवानों ने शांति मार्च निकाला और आजादी के बाद पहली बार धुर नक्सल प्रभावित क्षेत्र में तिरंगा झंडा फहराया। पुलिस अधीक्षक डॉ अभिषेक पल्लव ने कहा कि इंद्रावती नदी पर बन रहे तीन पुलों के पूर्ण होने के बाद इस क्षेत्र में भी विकास की बयार बहेगी। और यह क्षेत्र भी विकास व उन्नति के पथ पर आगे बढ़ेगा। ग्रामीणों की मांग के अनुसार 15 अगस्त को हांडावाड़ा में भी तिरंगा झंडा फहराया जायेगा।

Related posts

Chhttisgarh

jia

Chhttisgarh

jia

Chhttisgarh

jia

Leave a Comment

error: Content is protected !!