July 1, 2022
Uncategorized

जिले के विभिन्न थाना क्षेत्र से दो इनामी माओवादी गिरफ्तार

Spread the love

जिया न्यूज़:-दंतेवाड़ा,

पुलिस विरोधी विभिन्न नक्सल गतिविधियों में रहे है शामिल

2 किलोग्राम वजनी टिफिन बम, डेटोनेटर एवं वायर, बैनर, पोस्टर एवं पर्चा व नक्सली साहित्य किताब बरामद

दंतेवाड़ा पुलिस द्वारा चलाए जा रहे नक्सल उन्मूलन अभियान के तहत डीआरजी की टीम नक्सल गस्त, सर्चिंग पर ग्राम एटेपाल जियाकोड़ता एवं टेटम की ओर रवाना हुई थी कि जियाकोडता के पहाड़ी में पांच छह व्यक्ति जो ग्रामीण वेश भूषा में थे वह पुलिस पार्टी को देख कर भागने की कोशिश कर रहे थे। पुलिस पार्टी द्वारा घेराबंदी कर पकड़ने का प्रयास किया गया। जिसमें एक संदेही व्यक्ति पकड़ा गया।

जिससे पूछताछ करने पर उसका नाम पोज्जा मंडावी पिता बुधराम मंडावी उम्र 20 वर्ष बताया। जो प्रतिबंधित माओवादी संगठन में प्लाटून नंबर 24 सेक्शन ए का सदस्य एवं नक्सली संगठन में वर्ष 2009 से कार्यरत था। उसकी तलाशी लेने पर पुलिस बल को क्षति पहुंचाने की नियत से झोला में रखा गया 2 किलोग्राम वजनी टिफिन बम, डेटोनेटर एवं वायर कब्जे से बरामद हुआ। उक्त नक्सली को थाना कुआकोंडा लाकर वैधानिक कार्रवाई कर न्यायिक रिमांड पर भेजा गया।वही दूसरी कार्यवाही में गीदम थाना क्षेत्र के ग्राम मुस्तलनार, गुमलनार छिंदनार एवं बड़े तुमनार की ओर गई नक्सल ग्रस्त, सर्चिंग पार्टी जब बड़े तुमनार मेन रोड के छिंदनार तिराहे के पास पहुची थी तभी जंगल में एक संदिग्ध व्यक्ति पुलिस पार्टी को देख कर भागने लगा। जिसे घेराबंदी कर पकड़ा गया जिससे पूछताछ करने पर उसने अपना नाम मुन्नाराम पोड़ियामि पिता हिड़मा पोड़ियामि उम्र 25 वर्ष बताया। जो प्रतिबंधित माओवादी संगठन में जन मिलिशिया कमांडर के पद पर सक्रिय है। और बड़े नक्सलियो के कहने पर नक्सल संगठन के प्रचार प्रसार करने एवं आम जनता में नक्सलियों का भय उत्पन्न करने व पुलिस की रेकी कर नक्सलियों को इसकी सूचना देने के लिए आना बताया। जिसकी तलाशी लेने पर उसके कब्जे से बैनर, पोस्टर एवं पर्चा व नक्सली साहित्य किताब बरामद हुई। उक्त नक्सली को थाना गीदम लाकर वैधानिक कार्यवाही कर न्यायिक रिमांड पर भेजा गया

Related posts

Chhttisgarh

jia

अधिकतर एटीएम बगैर सुरक्षा गार्ड के, ग्रामीण सायबर क्राइम के हो रहे शिकार

jia

जिले ने आज बनाया नया कीर्तिमान
विश्व रिकॉर्ड बनाते हुए दर्ज किया गिनीज बुक में नाम
दंतेश्वरी मंदिर से भैरव मंदिर भ्रमण करते हुए माता जी के दरबार पहुंची चुनरी

jia

Leave a Comment

error: Content is protected !!