November 30, 2022
Uncategorized

अटल ज्योति योजना के तहत अस्थायी बिजली कनेक्शन से, किसानों की बढ़ती चिंता,किसानों के सिर पर कर्ज का बोझ.फसल सूखने की कगार.
.देखिए खास खबर

Spread the love

जिया न्यूज:-अरुण सोनी-बेमेतरा,

बेमेतरा- सरकार किसानों को राहत प्रदान करने के लिए अटल ज्योति योजना के तहत किसानों को सिंचाई सुविधाओं को बेहतर करने के लिए योजना बनाकर लाभ दिलाने लाखों करोड़ों रुपए पानी की तरह बहाई, किंतु सिंचाई पम्पों के लिए बिजली कनेक्शन लेने वाले किसानों को रात भर घंटों अंधेरे में रहने के लिए मजबूर हो गए हैं।

गौरतलब है कि जिले में बड़ी संख्या में किसान खेतों में आवास बनाकर निवास करते हैं। इन किसानों को अटल ज्योति योजना के तहत सिंचाई पम्प कनेक्शन दिया गया था, और उसी उम्मीद में किसान दो फसल लेने के लिए दलहन तिलहन जैसे फसल ले रहे हैं। ताकि किसानों की कर्ज का बोझ हटा सके। लेकिन इन कनेक्शनों में प्रतिदिन घंटो तक बिजली कटौती की जा रही थी। यह सिलसिला कनेक्शन लगाने से आज दिनांक तक लगातार चला आ रहा है । हम आपको बता रहे हैं कि बेमेतरा जिला मुख्यालय के 28 किलोमीटर दूर ग्राम पंचायत मऊ की है। जहां पर किसान सैकड़ों एकड़ भूमि पर धान की फसल लगाई गई है।जहाँ अटल ज्योति योजना के तहत किसानो को घंटो बिजली से वंचित रहने से उनकी फसल बर्बाद होने के कगार पर है।खेतों में पानी नही मिलने की वजह से खेतों में दरारें आ गई है ।जबकि मऊ ग्राम पंचायत लगे अन्य ग्राम पंचायतों में बिजली की कटौती नही हो रही है जिससे मऊ पंचायत के किसानों में आक्रोश व्याप्त है। ग्रामीणों ने बताया कि गांव में बिजली की पर्याप्त व्यवस्था नहीं होने के कारण धान की फसल चौपट हो रही है। गांव में वोल्टेज कम आने के कारण न तो पानी मिल रहा है न ही मोटर चल पा रही हैं। खेत में पानी नहीं लगाए जाने के कारण धान की फसल सूखने की कगार पर पहुंच गई है। ग्रामीण किसानों ने अस्थायी कनेक्शन के एक निर्धारित शुल्क रखा है किंतु विभाग के कुछ भ्रष्ट अधिकारी कर्मचारी किसानों से 4000 हजार रुपये दिये गए हैं किंतु विभाग द्वारा उन्ह मात्र 1500 रुपये की ही रसीद दी जा रही है शेष रुपये बिजली विभाग के मिस्त्री व उनसे सम्बंधित अधिकारी को देने बात कही जा रही है ।ग्रामीणों ने बताया कि अगर गांव में थ्री फेस लाइट का इंतजाम नहीं किया गया, तो किसान पूरी तरह बर्वाद हो जाएंगे। बिजली कटौती से लोग परेशान है। ग्रामीण क्षेत्रों में अघोषित कटौती की जा रही हैं, जहां दिन में घंटों बिजली गुल रहती है,। वहीं रात में भी काफी समय तक बिजली गायब बनी रहती है। कटौती को लेकर लोगों में तीखा आक्रोश बढ़ रहा हैं। कटौती से ग्राम की जलापूर्ति व्यवस्था भी विगड़ रही है,। विद्युत मोटंरे भी नहीं चल पा रही है। विद्युत विभाग के अंतर्गत आने वाले नांदघाट सब स्टेशन से ग्रामों में अटल ज्योति योजना की कनेक्शन दी गई है। किसानों ने नांदघाट बिजली विभाग में इसकी शिकायत की है किंतु उस पर सुनवाई नहीं होने से आज वे बेमेतरा बिजली विभाग को मिलकर अपनी समस्याओं को अवगत कराया।शिकायत पर सुनवाई नहीं होने की स्थिति में नांदघाट बिलासपुर मार्ग पर चक्का जाम करने की बात कह रहे थे। बिजली विभाग ने 2 दिनों के अन्दर समस्याओं से निजात होने की बात कहीं है।

Related posts

इंद्रदेव अमृत उत्सव मना रहे, मेहरबानी से आफत के भी संकेत,सतर्कता की दरकार

jia

सुपोषण तारीफ में, आ रही है गर्म भोजन की खुशबू
मामला सुपोषण का कम और गर्म भोजन का ज्यादा तो नहीं ? –रामु नेताम

jia

बस्तर के वरिष्ठ पत्रकार सुरेश रावल बने बस्तर अधिकार मुक्तिमोर्चा के सह संरक्षक–मुक्ति मोर्चा

jia

Leave a Comment

error: Content is protected !!