January 20, 2022
Uncategorized

उसुर लेम्प्स प्रबंधक तेलंगाना के किसानों का धान खरीद कर छत्तीसगढ़ सरकार को लगा रहे चुना
80 ट्रैक्टरों में तेलंगाना से पुजारी कांकेर के रास्ते पंहुचा धान ,प्रशासन नतमस्तक

Spread the love

जिया न्यूज:-ईश्वर सोनी-बीजापुर,

बीजापुर:-धान की सरकारी खरीदी में होने वाली गड़बड़ी को रोकने प्रशासन चाहे लाख नियम कायदे बना ले लेकिन धांधली करने वाले इसका उपाय निकाल ही लेते है
इस तरह का मामला उसुर धान खरीदी केंद्र में देखने को मिला जंहा तेलंगाना से ट्रैक्टरों में भरकर धान उसुर धान खरीदी केंद्र पंहुचा था जब पत्रकारों ने तेलंगाना से धान बेचने आये लोगो से पूछा तो उन्होंने बताया कि हम धान तेलंगाना के चेरला एंव वेंकटापुरम से लेकर आ रहे है तेलंगाना में धान का मूल्य कम है यंहा प्रबंधक द्वारा 15 रुपये में खरीदा जा रहा है इसलिए यंहा बेचेंगे

इस तरह तेलंगाना के धान को धान खरीदी प्रभारी द्वारा उसुर क्षेत्र के नही बेचने वाले किसानों के खाते में खरीदी कर मोटी कमाई में लगे है जबकि पुजारी कांकेर – कोतापल्ली क्षेत्र के किसान अब भी अपने धान बेचने को लेकर परेशान है एंव मजबूरन चेरला एंव वेंकटापुरम के कोचियों (व्यापारियों) को कम दर पर बेच रहे है और ये कोचिये लेम्प्स प्रबंधक से सांठगांठ कर सारे धान को पुजारी कांकेर के रास्ते उसुर पंहुचा रहे है

तेलंगाना के धान खरीदी के लिए बनाया अलग से रजिस्टर जिस पर अचानक पड़ी मीडिया की नजर

धान खरीदी केंद्र में तेलंगाना से आ रहे धान को किस किसान के खाते में खरीदी करना है इसके लेकर एक रजिस्टर भी बनाया गया है जो कि सरकारी रजिस्टर से हटकर है जिसमे देखने पर सारा कच्चा चिट्ठा मिडिया के सामने आया

मामले को लेकर क्या कहते है लेम्प्स प्रबधक

तेलंगाना से आ रहे धान की खरीदी को लेकर जब लेम्प्स प्रबंधक विष्णु साहू से बात की गई तो उन्होंने बताया कि हमारा काम सिर्फ धान खरीदी के लक्ष्य को पूरा करना है इसके लिए जंहा से भी धान आएगा हम खरीदेंगे
इससे साफ जाहिर होता है कि इसमे धान खरीदी को लेकर विभाग के उच्च अधिकारियों की भी मिलीभगत है जिसके चलते इन्हें किसी भी कार्यवाही का डर नही और तेलंगाना के धान को खरीद कर मोटी कमाई में लगे है

सीआरपीएफ ने भी माना कि तेलंगाना के ट्रेक्टर पंहुच रहे है लेकिन हम कुछ नही कर सकते

इस दौरान जब मिडिया की टीम उसुर से आगे गलगम तक गई तो सीआरपीएफ के नाको पर कुछ ट्रैक्टरों को रोक कर नाम पता पूछ रहे थे
जब मीडियाकर्मियों ने नाके में बैठे सीआरपीएफ जवानों से पूछा तो बताया कि अब तक 80 ट्रेक्टर से ज्यादा धान तेलंगाना से आ चुका है लेकिन उनका काम सिर्फ नाम -पता लिखना है अवैध धान को रोकने के लेकर कोई आदेश नही है इसलिए हम जाने देते है

नैमेड में भी अवैध धान खरीदी को लेकर चर्चा जोरों पर

बीजापुर मुख्यालय से मात्र 15 किलोमीटर दूर नैमेड धान खरीदी केंद्र में भी अवैध धान की खरीदी को लेकर चर्चा जोरों पर है वँहा के ग्रामीणों ने बताया कि अब तक दो हजार बोरी धान की अवैध खरीदी प्रबंधक द्वारा यंहा के व्यापारियों से कर ली गई है जिसमे नैमेड का व्यापारी ने ही 700 बोरी अवैध धान रात के अंधेरे में 7 दिनों तक छोड़ा

Related posts

Chhttisgarh

jia

गीदम साप्ताहिक बाजार पर नगर पंचायत परिषद ने लगाई रोक

jia

गीदम विकास खंड के 4 विद्यार्थीयों का इंस्पायर अवार्ड – मानक राज्य स्तरीय प्रोजेक्ट प्रतियोगिता हेतु चयनित हुआ

jia

Leave a Comment

error: Content is protected !!