September 22, 2021
Uncategorized

विधायक के प्रयासों से मिली ग्रामीणों को राहत,लंबे अरसे के बाद धरसीवां को मिला पूर्ण तहसील का दर्जा विधायक शर्मा ने मुख्यमंत्री के प्रति आभार व्यक्त किया,

Spread the love

जिया न्यूज़:-रायपुर,

रायपुर:-छत्तीसगढ़ की राजधानी रायपुर से लगभग बीस किलो मीटर की दूरी पर स्थित उप-तहसील धरसीवां को पूर्ण तहसील के दर्जा दिलाने के लिए धरसींवा विधायक लगातार प्रयास रत रहीं जनता की बहुप्रतीक्षित मांग को लेकर विधायक बराबर मुख्यमंत्री के समक्ष धरसींवा को पूर्ण तहसील देने की मांग करतीं रहीं हैं,आखिर कार विधायक श्रीमती शर्मा का प्रयास रंग लाया,मुख्यमंत्री भूपेश बघेल ने धरसींवा को पूर्ण तहसील का दर्जा दे दिया है।
आप को बतादें क्षेत्रीय विधायक अनिता योगेंद्र शर्मा के द्वारा पथरी में छत्तीसगढ़ के प्रथम स्वप्न दृष्ट डॉ खूबचंद बघेल की जयंती के अवसर पर मुख्यमंत्री से मांग की थी इतना ही नहीं विधायक श्रीमती शर्मा बराबर मुख्यमंत्री व कैबिनेट मीटिंग में धरसींवा तहसील को पूर्ण दर्जा न मिलने को लेकर जनता की परेशानियों को लगातार कैबिनेट की मीटिंग में मुख्यमंत्री से व्यक्तिगत रूप से अवगत करती रहती थी कि धरसींवा तहसील न होने के कारण जनता को अपने काम को लेकर बार बार मुख्यालय जाना पड़ता है, जिससे धरसींवा निवासियों को बहुत ही ज्यादा परेशानियों का सामना करना पड़ता है, विधायक के इन्ही प्रयासों से धरसींवा निवासियों को बहुत बड़ी सौगात मिली निश्चित रूप से इस सौगात से अब ग्रामीणो को राजधानी रायपुर की भागदौड़ से निजात मिलेगी।विधायक श्रीमती शर्मा के प्रयास से धरसींवा को इतनी बड़ी सौगात मिली जिसके लिए वो बधाई की पात्र हैं,
आप सब को एक जानकारी और दे दूँ।
रायपुर राजधानी का धरसीवां क्षेत्र प्रदेश का एकमात्र क्षेत्र है जहां से सर्वाधिक स्वतंत्रता संग्राम सेनानी हुए हैं जिन्होंने स्वाधीनता की जंग में बढ़ चढ़कर हिस्सा लिया और भारतवर्ष को अंग्रेजो की गुलामी से आजाद कराया प्रथक छत्तीसगढ़ राज्य के प्रथम स्वप्न दृष्टा स्वाधीनता सैनानी डॉ खूबचन्द बघेल की जन्म एवं कर्मभूमि पथरी गांव भी धरसीवां में ही है इतना ही नही देश की सबसे बड़ी स्पंज आयरन उद्योग मंडी में शुमार रखने वाला आद्योगिक क्षेत्र सिलतरा भी धरसीवां में ही है बाबजूद इसके इस क्षेत्र के लोगो को हर छोटे बड़े सरकारी कामों के लिए सीधे रायपुर मुख्यालय की भागदौड़ करना पड़ता है धरसींवा पूर्ण तहसील का दर्जा न होने से ग्रामीण लोगो को बहुत ही ज्यादा परेशानियों का सामना करना पड़ता है,ऐसे में धरसीवां विधाययक अनिता योगेंद्र शर्मा ने क्षेत्र की जनता की समस्या को बहुत ही गंभीरता से लेकर सरकार व शासन स्तर पर सक्रिय रहकर अपने क्षेत्र की प्रमुख समस्याओं के निदान में लगी रहती है,जिसका परिणाम देखने को मिला अंततः पूर्ण तहसील दर्जा धरसीवां को दिलाने में उनकी मेहनत लगन से कामयाबी मिली।
वहीं धरसीवां को पूर्ण तहसील का दर्जा मिलने से क्षेत्र के लोगो मे खुशी का माहौल है और उन्होंने प्रदेश के मुख्यमंत्री भूपेश बघेल व क्षेत्रीय विधायक का इसके लिए आभार व्यक्त किया है।

Related posts

भाजपा कार्यालय दंतेवाड़ा में मनाया गया विश्व योग दिवस

jia

Chhttisgarh

jia

शालेय शिक्षक संघ जिला दंतेवाड़ा ने की 18+ के टीकाकरण में सभी शिक्षकों को वेक्सीन लगाने की मांग

jia

Leave a Comment

error: Content is protected !!