February 23, 2024
Uncategorized

डब्ल्यूआईआई टाइगर सेल देहरादून ने माना इंद्रावती में है बाघ,
इन्द्रावती टाइगर रिजर्व 2799.086 वर्ग कि.मी. के भौगोलिक क्षेत्र में फैला हुआ है

Spread the love

जिया न्यूज:-जगदलपुर,

जगदलपुर:-हाल ही के दिनों में इन्द्रावती टाइगर रिजर्व में एक नये बाघ देखने की पुष्टि की गई हैं। इन्द्रावती टाइगर रिजर्व के उप निदेशक गणवीर धम्मशील ने बताया कि इन्द्रावती टाइगर रिजर्व में नये बाघ देखने को मिला है, जिसकी पुष्टि डब्ल्यू आई आई टाइगर सेल देहरादून द्वारा की गई है।
इन्द्रावती टाइगर रिजर्व बाघों के रहवास के लिए उपयुक्त स्थल है, जहां बाघ के अलावा अन्य वन्यजीव भी निवास करते हैं। जिसमें मुख्य रूप से वन भैंसा जो छत्तीसगढ़ राज्य का राजकीय पशु यहां पाया जाता है, साथ ही गौर, तेन्दुआ, भालू, नीलगाय, हिरण, सांभर, जंगली सुअर इत्यादि वन्यप्राणियों का भी यह रहवास स्थल है। छत्तीसगढ़ के इन्द्रावती टाइगर रिजर्व 2799.086 वर्ग कि.मी. के भौगोलिक क्षेत्र में फैला हुआ है जो महाराष्ट्र एवं तेलंगाना के वनक्षेत्र से लगा हुआ है जो बाघों के विचरण के लिए उपयुक्त कॉरिडोर का काम करता है। इन्द्रावती टाइगर रिजर्व प्रबंधन वन्यजीवों की मॉनिटरिंग एवं सुरक्षा का कार्य लगातार कर रहा है एवं मैदानी अमलों द्वारा फुट पेट्रोलिंग के माध्यम से लगातार वन्यजीवों की सुरक्षा एवं निगरानी की जा रही है। इन्द्रावती टाइगर रिजर्व के उप निदेशक ने बताया कि वन्यजीव संरक्षण के प्रति जागरूकता लाने के लिए ग्रामीणों के साथ मिलकर वन्यजीव संरक्षण का कार्य लगातार किया जा रहा है। जिससे वन्यजीव संरक्षण के साथ-साथ स्थानीय ग्रामीण एवं युवाओं को रोजगार उपलब्ध कराया जा सके।

Related posts

नेचर ट्रेल को प्रकृति और आधुनिकता के बीच समन्वय बनाकर स्थापित करें-कलेक्टर,
गार्डन का निर्माण ऐसा करें, जिसे देखने जिले एवं आसपास के जिलेवासी यहां आये

jia

केटीएम बाइक टकराई पोल से युवक की मौके पर ही मौत,
कोड़ेनार थाना क्षेत्र के आरापुर तालाब के पास हुआ हादसा
केटीएम दो टुकड़ों में हुआ तब्दील

jia

लोन वर्राटू से प्रभावित होकर तीन इनामी माओवादियों सहित कुल 16 माओवादियों ने किया आत्मसमर्पण पुलिस को मिल रही है लगातार सफलता आत्मसमर्पित माओवादी रेल्वे की संपत्ति को नुकसान पहुचाने की घटना में रहे है शामिल

jia

Leave a Comment

error: Content is protected !!